logo
Blog single photo

'मुझे ख़ुशी है कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से लोगों को जान गंवानी पड़ी', गडकरी की फिसली जुबान

लखनऊ: कोरोना की दूसरी लहर के प्रकोप और उसमे हुई अव्यवस्थाओं को देखते हुए सरकार ने तीसरी लहर की तैयारियां शुरू कर दी है। इसी के तहत  उत्तर प्रदेश में भी प्लांट लगाए जा रहे है। प्रयागराज के नैनी स्थित सरस्वती हाईटेक प्लांट के शिलान्यास कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शामिल हुए है। इस दौरान ऑनलाइन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उनकी जुबान फिसल गई।

दरअसल, गडकरी कार्यक्रम में शामिल दूसरे मेहमानों का नाम ले रहे थे। इसके तुरंत बाद उन्होंने अपना संबोधन शुरू किया, लेकिन अपने भाषण की पहली लाइन में ही उनकी जुबान फिसल गई। नितिन गडकरी ने कहा, "मुझे खुशी है कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी की वजह से देश के तमाम लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।" दरअसल, गडकरी को यहां खुशी की बजाय दुख शब्द का इस्तेमाल करना था, लेकिन उनकी जुबान फिसल गई। इस कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी शामिल रहे।

अपने संबोधन में उन्होंने आगे कहा, "आने वाले समय में तीसरी लहर और चौथी लहर का संकट है। इसको ध्यान में रखकर काम करना आवश्यक है। इसके साथ ही हर जिले में ऑक्सीजन सिलेंडर बैंक की स्थिति देखना जरूरी है। आवश्यकता पड़े तो राज्य सरकार द्वारा हर जिले की चिकित्सा व्यवस्था में 4,000-5,000 सिलेंडर शामिल किया जाए।"






Top