logo
Blog single photo

पतंगों से सजा बाबा महाकाल का दरबार, तिल से स्नान कराकर हुआ आकर्षक श्रृंगार

उज्जैन: पूरे देश में मकर संक्रांति का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है। उज्जैन में राजाशिराज बाबा महाकाल के आंगन में सबसे पहले त्यौहार मना। तड़के 4 बजे भस्मारती में पुजारी ने भगवान महाकाल को तिल से स्नान कराया और लड्डुओं का भोग लगाया। इससे पहले बुधवार शाम गर्भगृह और नंदीहॉल को पतंगों से सजाया गया।

महाकाल मंदिर की परंपरा अनुसार मकर संक्रांति पर तड़के भस्मारती में भगवान महाकाल को तिल से स्नान कराया गया। इसके बाद नवीन वस्त्र व आभूषण से आकर्षक श्रृंगार हुआ। भगवान को भस्म रमाने के बाद तिल के लड्डुओं का भोग लगाकर आरती हुई। भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली सांदीपनि आश्रम में मकर संक्रांति पर पतंग सज्जा की गई है।

इसके साथ ही लोग क्षिप्रा-नर्मदा नदी में आस्था की दुबकी लगा रहे हैं और दान-पुण्य कर रहे हैं। संक्रांति पर पर्व स्नान के लिए शिप्रा नदी में नर्मदा का मिलियन क्यूबिक मीटर पानी लाया गया है। श्रद्धालु नर्मदा-शिप्रा के जल से पर्व स्नान करेंगे। व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए बुधवार को कलेक्टर आशीष सिंह और एसपी सत्येंद्र शुक्ला रामघाट पर पहुंचे। उन्होंने दौरा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।



Top