logo
Blog single photo

गणतंत्र दिवस: राजपथ पर दिखा देश का शौर्य और संस्कृति, आसमान में गरजे राफेल

नई दिल्ली: देश आज अपने 72वें गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहा है। आज इस मौके राजपथ पर परेड निकली, जिसमें भारत ने दुनिया के सामने अपनी शक्ति दिखाई, तो वहीं, हमारी संस्कृति भी दिखाई। यहां अलग-अलग राज्यों की झाकियों के साथ राम मंदिर की झलक भी दुनिया ने देखी। आज पहली बार राफेल लड़ाकू विमान ने अपना दम दुनिया के सामने परेड में दिखाया।

राजपथ पर पहली बार बांग्लादेश की सशस्त्र सेनाओं के 122 सैनिकों का मार्चिंग दस्ते ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। इस दस्ते का नेतृत्व लेफ्टिनेंट कर्नल अबु मोहम्मद शाहनूर शावोन और उनके डिप्टी लेफ्टिनेंट फरहान इशराक और फ्लाइट लेफ्टिनेंट सिबत रहमान ने किया। इस दस्ते में बांग्लादेश की थल सेना, नौसेना और वायुसेना के जवान शामिल रहे।

सबसे पहले राजपथ पर युद्धक टैंक टी-90 (भीष्म) ने अपना जलवा बिखेरा। यह मुख्य युद्धक टैंक, हंटर-किलर सिद्धांत पर कार्य करता है। यह 125 मिमी की शक्तिशाली स्मूथ बोर गन, 7.62 मिमी को-एक्सिल मशीन गन और 12.7 मिमी वायुयानरोधी गन से लैस है। 861 मिसाइल रेजिमेंट की ब्रह्मोस मिसाइल प्रणाली के मोबाइल स्वायत लांचर ने राजपथ पर अपनी ताकत दिखाई।

सबसे पहले जाट रेजिमेंट ने अपनी परेड की, उसके बाद गढ़वाल रेजिमेंट के जवानों ने अपना जज्बा दिखाया। दुर्गा माता की जय बोल दुश्मन के छक्के छुड़ा देने वाली जम्मू एवं कश्मीर राइफल्स रेजिमेंट के जवानों ने राजपथ पर अपने जज्बे से हर किसी का दिल जीत लिया। सिख लाइट इंफैंट्री रेजिमेंटल सेंटर, लद्धाख स्काउट्स रेजिमेंटल सेंटर, आर्टिलरी सेंटर (नासिक रोड़) के संयुक्त बैंड दस्ते ने ‘‘बलिदान‘‘ की धुन को राजपथ पर बजाया।

राजपथ पर नौ सेना की झांकी भी दिखाई गई। ‘‘ब्लैक कैट कमांडोज‘‘ के नाम से लोकप्रिय राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के मार्चिंग दस्ते ने अपना जोश दिखाया। संघ शासित प्रदेश लद्दाख की झांकी है जो केन्द्र शासित प्रदेश बनने के बाद पहली गणतंत्र दिवस परेड में शिरकत की। इस बार उत्तर प्रदेश की झांकी भी ख़ास रही। इसमें राम मंदिर की झलक दिखाई गई।

आईटी मंत्रालय की झांकी में राष्ट्र की प्रगति के लिए डिजिटल इंडिया- आत्मनिर्भर भारत थीम को दर्शाया जा रहा है। झांकी में एआई रॉबोट के 3डी मॉडल को दर्शाया गया है जो डिजिटल इंडिया कार्यक्रम द्वारा मार्गदर्शित डिजिटल क्रांति को दिखाता है।राज्यों के सांस्कृतिक रुख को दुनिया के सामने दिखाने की है. दर्जनों राज्यों की अलग-अलग झांकी निकल रही हैं, जिसमें कलाकार राज्य की विशेष संस्कृति का दर्शन दुनिया को करा रहे हैं।

अब बारी सबसे खास फॉरमेशन की है. एकलव्य फॉरमेशन की अगुवाई राफेल लड़ाकू विमान कर रहा है। राफेल के साथ दो जगुआर, दो मिग-29 लड़ाकू विमान है। फॉरमेशन के कप्तान ग्रुप कैप्टन रोहित कटारिया, फ्लाइट लेफ्टिनेंट 17 स्कवाड्रन हैं। बता दें कि राफेल लड़ाकू विमान इस बार वर्टिकल चार्ली रूप में अपने करतब दिखा रहा है।


Top