logo
Blog single photo

भाजपा का दामन थाम बोले आईएएस अधिकारी, कल रात मुझे कहा गया, बीजेपी की सदस्यता लेनी है

अहमदाबाद: गुजरात कैडर के पूर्व आईएएस अरविन्द कुमार अब सियासी मैदान में उतर गए हैं। अरविंद कुमार ने गुरूवार को लखनऊ में भाजपा का दामन थाम लिया है। शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अति विश्वसनीय अधिकारियों में से एक रहे हैं। माना जा रहा है कि बीजेपी उन्हें विधान परिषद भेज सकती है। अरविंद कुमार का रिटायरमेंट 2022 में होने वाला था लेकिन उन्होंने अचानक स्वैच्छिक सेवानिवृत्त लेकर सभी को चौंका दिया है।

बीजेपी की सदस्यता लेने के बाद  AK शर्मा ने कहा, 'मैं मऊ के एक पिछड़े गांव का हूं, पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी उसका निर्वहन करुंगा। कल रात मुझे कहा गया कि आपको भाजपा की सदस्यता लेनी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद अधिकारी रहे अरविंद कुमार शर्मा मूलरूप से यूपी के रहने वाले हैं। वो यूपी के मऊ जिले में मुहम्मदाबाद गोहना तहसील के रानीपुर विकास खंड अंतर्गत काझाखुर्द गांव के रहने वाले हैं।  शर्मा का जन्म 11 अप्रैल 1962 में हुआ है।

अरविंद कुमार शर्मा 1988 बैच के गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। उन्होंने 2001 से लेकर 2013 तक गुजरात में नरेंद्र मोदी के साथ विभिन्न पदों पर काम किया है। ऐसे में नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बनकर दिल्ली आए तो अरविंद शर्मा भी उनके साथ पीएमओ आ गए थे। मौजूदा समय में वो  केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मझोले मंत्रालय में सचिव के पद पर थे।

 

 


Top