logo
Blog single photo

मध्यप्रदेश में बढ़ी सख्ती, महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों को दिखाना होगी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट

भोपाल: मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए राज्य सरकार अलर्ट हो गई है। राज्य सरकार एक बार फिर सख्त नियम लागू कर रही है। अब महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश आने वाले लोगों को कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना होगी। बिना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों को मध्यप्रदेश में एंट्री नहीं मिलेगी। इसकी जवाबदारी बस ऑपरेटर्स की रहेगी। बस ऑपरेटिव कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के आधार पर ही यात्रियों को बस में बैठाएं।

भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, उज्जैन और महाराष्ट्र से लगे जिलों में कोरोना से प्रभावित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इंदौर में UK स्ट्रेन के 6 मरीज मिलने ने प्रशासन में हड़कंप मच गया है। प्रदेश में स्थिति न बिगड़े इसके व्यापक इंताजम किए जा रहे हैं। संक्रमण की रोकथाम को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समीक्षा बैठक की है और स्पष्ट निर्देश दिए है कि, महाराष्ट्र से लगे जिलों पर लगातार निगरानी रखें।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समीक्षा बैठक में इस बात पर जोर दिया कि अगर कोरोना के बढ़ते मामले नहीं थमे तो 8 मार्च से भोपाल-इंदौर में नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकता है। बैठक में सीएम के साथ लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।

चौहान ने कहा कि जो दुकानदार बिना मास्क के दुकान पर बैठेंगे या बिना मास्क लगाए व्यक्तियों को सामान देंगे, तो उन पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही सामान्य तौर पर रोको-टोको के लिए भी भोपाल और इंदौर में तत्काल प्रभाव से अभियान आरंभ किया जाएगा। स्कूल, कॉलेजों में जागरूकता पर ध्यान दें। उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी शासकीय तथा गैर-शासकीय शैक्षणिक संस्थाओं में मास्क का उपयोग अनिवार्य किया जाए।

 


Top