logo
Blog single photo

आरोपों के बीच शरद पवार का बड़ा बयान- संकट के समय राज्य सरकार का सहयोग कर रहा केंद्र

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बिगड़ते जा रहे है। बेकाबू संक्रमण के बीच वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। राज्य सरकार लगातार वैक्सीन की कमी की शिकायत कर रही है और केंद्र पर वैक्सीन की आपूर्ति नहीं करने के आरोप लगा रही है। इन्ही आरोपों के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बड़ा बयान दिया है।

शरद पवार ने कहा है कि महामारी के इस कठिन समय में केंद्र सरकार लगातार राज्य सरकार का सहयोग कर रही है। हम सभी को एकजुट होकर इस खतरे से लड़ना होगा. राज्य और केंद्र दोनों को साथ आना होगा और महामारी से लड़ने का तरीका खोजना होगा।

इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने केंद्र सरकार पर महाराष्ट्र सरकार को नीचा दिखाने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा, 'महाराष्ट्र को नीचा दिखाने और बदनाम करने की कोशिश चल रही है। हर्षवर्धन जी से ये उम्मीद नहीं थी। महाराष्ट्र एक बड़ा राज्य है और सबसे ज्यादा प्रेशर है। एक-दूसरे के ऊपर टिप्पणी ना करके एक साथ मिल कर चलना चाहिए।'संजय राउत ने आगे कहा, 'महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने की कोशिश पहले दिन से चल रही है, लेकिन ये कोशिश कामयाब नहीं होगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने महाराष्ट्र और कुछ अन्य राज्यों को जवाब दिया था। उन्होंने राज्यों पर वैक्सीन लगवाने के योग्य लोगों को टीका लगाए बिना सभी के लिए टीकों की मांग कर लोगों में दहशत फैलाने और अपनी 'विफलताएं' छिपाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि टीकों की कमी को लेकर महाराष्ट्र के सरकारी प्रतिनिधियों के बयान, 'और कुछ नहीं, बल्कि वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने की महाराष्ट्र सरकार की बार-बार की विफलताओं से ध्यान भटकाने की कोशिश है।



Top